बुली भैया

बुली भैया9th में होंगेजब हम 4th में थेऑटो में उनका एक छत्र राज थाकोने वाली सीट पर बस उनका ही अधिकार थावह कूटनीती के ज्ञाता थेअंडरटेकर वाली कूटनीती केजब मौका मिलता हमें कूट देते थेऑटो में उनको बैग टच हुआ तोकूट दियाउनके जोक पर हम हंसे नहीं तबकूट दियाउनके लिए दो वाली पेप्सी नहीं लाएContinue reading “बुली भैया”