आदरणीय व्हाट्सएप अंकल – एपिसोड ४

आशा है आपकी नाक में ऑक्सीजन और कानों में प्रोपोगंडा बराबार पहुंच रहा होगा। आपकी भक्ति में शायद थोड़ी कमी रह गई इसलिए माल्डिव्स की जगह गोवा तक ही जा पाए छुट्टी मनाने। खैर आपने जो वहां से पॉजिटिव फॉरवर्ड्स भेजे थे, उससे आपके कॉविड पॉजिटिव दोस्त को कोई असर नहीं हुआ, वो भी अंतिमContinue reading “आदरणीय व्हाट्सएप अंकल – एपिसोड ४”