बुली भैया

बुली भैया9th में होंगेजब हम 4th में थेऑटो में उनका एक छत्र राज थाकोने वाली सीट पर बस उनका ही अधिकार थावह कूटनीती के ज्ञाता थेअंडरटेकर वाली कूटनीती केजब मौका मिलता हमें कूट देते थेऑटो में उनको बैग टच हुआ तोकूट दियाउनके जोक पर हम हंसे नहीं तबकूट दियाउनके लिए दो वाली पेप्सी नहीं लाएContinue reading “बुली भैया”

Aadarniya Whatsapp Uncle

Aadarniya Whatsapp Uncle,Asha hain aap sakushal honge,Sabse pehle toh Whatsapp ki taraf se Bharat ke rashtragaan ko sarvashreshta rashtragaan milne ki shubhkaamnaayeinAap aise hi agar Harr Harr Chokidaar ki maala japte rahenge aur Congress ko niyamit roop se din main 4 baar gaali dete rahenge  (Jabki jab wo asal main gadbad jhala kar rahi thi,Continue reading “Aadarniya Whatsapp Uncle”

बॉम्ब स्क्वाड का कुत्ता

एक बार बॉम्ब स्क्वाड के कुत्ते से मैंने पूछातुम्हें बारूद ढूंढते हुएइब्राहीम के इत्र की खुशबू अायीया शिव के धतूरे कीवह गुराया…मैं पीछे हटाउसने गुस्से में जवाब दियामुझे तो बसउन दोनों के बीचनफ़रत फैलाने वालेकी बदबू अायी।

सपनों के बीज

हम सब अपने सपनों को बोते हैंपर सबकी ज़मीन एक सी नहीं होतीसबको एक सी धूप नहीं मिलतीकांटे सबके हिस्से आते हैंपर सबको माली की मदद नहीं मिलती अकेले रहकर भी जो ठान ले तोकांटों में भी गुलाब उगादेसाथ मिलने पर भी जो भटके तोसूरजमुखी की भी चमक लुटा दे लहलहाकर खुदकभी जो सहरा देContinue reading “सपनों के बीज”

नशे में धूत

जब हम लाखों टन अनाज को सड़ते देख कुछ नहीं कहते,जब उस लाखों टन सड़े अनाज को शराब में घुलते देख कुछ नहीं कहते,तो हम सब बिना पिये नशे में धूत हैंऔर नशे में धूत लोगों को अपनी लाचारी नहीं दिखतीदूसरों की लाचारी की बात तो छोड़ ही दीजिए…